कोरोना के बढ़ते मामलों पर स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन का बयान, “लोगों के ऐसा करने से बढ़ रहा है…”

0
93

दुनिया भर में कोरोना वायरस ने तबाही मचा रखी है। हालांकि कुछ समय पहले तक इस पर काबू पा लिया गया था। लेकिन अब फिर एक बार ये संकट तेज़ी से बढ़ने लगा है। जिसको देखते हुए इसको कोरोना की दूसरी लहर बताया जा रहा है। बता दें कि भारत में ये संकट और भी तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में सबसे ज़्यादा मामले महाराष्ट्र से आए हैं। खबर है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन (Dr Harsh Vardhan) ने अपने एक बयान में बढ़ते संकट की वजह बताई है। उनका कहना है कि लोग अब कोरोना वायरस को हल्के में ले रहे हैं। जिसके कारण इसके मरीजों में तेज़ी से इजाफा हो रहा है।

उन्होंने कहा कि “देश मे बहुत लोगों को लगता है कि कोविड वायरस के खिलाफ वैक्सीन आ गयी है। अब सब ठीक हो गया है यानी लोग कोरोना को अब गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। लोग कोविड-19 को हल्के में ले रहे हैं। सुपर स्प्रेडर इवेन्ट्स हो रहे हैं। ये रेयर केस है कि वैक्सीन के बाद दोबारा इंफेक्शन हुआ हो, लेकिन वैक्सीन लेने के बाद अगर इंफेक्शन हो जाता है तो जान का खतरा नही होता है। सभी परिस्थितियों में कोविड को हैंडल का तरीका पहले से स्थापित हो चुका है।”

उन्होंने बताया कि वह आज अपनी पत्नी के साथ कोरोना का दूसरा टीका लगवाने गए थे। इससे पहले वह 2 मार्च को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ले चुके हैं। वैक्सीनेशन को लेकर बात करते हुए उन्होंने कहा कि “डोज लेने के 30 मिनट बाद और पहली डोज के बाद किसी भी तरह की साइड इफेक्ट नही हुआ है। पहले भी कई बार कहा जा चुका है कि दोनों वैक्सीन सेफ हैं, अफवाहों पर भरोसा न करें। दूसरी डोज के बाद दो हफ्ते बाद शरीर में एंटीबॉडी होती है। वैक्सीन के बाद भी गाइडलाइन का पालन करना है। किसी भी तरह की लापरवाही न करें।”