सीबीआई की छापेमारी के बाद हुआ 12 IAS अधिकारियों का ट्रांसफर, मनीष सिसोदिया बोले…

0
18

दिल्ली में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो की छापेमारी से दिल्ली सरकार में हलचल पैदा हो गई है। दिल्ली सरकार लगातार केंद्र में बैठी भाजपा पर इसको लेकर लगातार हमला कर रही है। इस बीच खबर सामने आई है कि शुक्रवार को मनीष सिसोदिया के घर छापेमारी के बाद राज्य के करीब 12 आईएएस अधिकारियों का तबादला कर दिया गया है। मिली जानकारी के अनुसार जितने भी अधिकारियों का तबादला किया गया है। वह काफी अच्छी पहचान रखते हैं।

वही, अगर बात करें सीबीआई के इस छापेमारी की तो इसमें मंत्री के घर से अब तक सीबीआई के हाथ कुछ भी नहीं लगा है। लेकिन सुनने में आया है कि सीबीआई मनीष सिसोदिया के घर से उनका फोन और कुछ फाइल्स अपने साथ ले गए हैं। बता दें कि मनीष सिसोदिया के घर के साथ साथ सीबीआई ने राज्य में 20 अन्य ठिकानों में भी छापा मारा था। जिसकी आम आदमी पार्टी कड़ी निन्दा कर रहा है। आम आदमी पार्टी का कहना है कि “सिसोदिया को इसलिए निशाना बनाया जा रहा है क्योंकि केंद्र गुरुवार को न्यूयॉर्क टाइम्स के पहले पन्ने पर उनकी खबर छपने से परेशान है।”

इसके अलावा इस छापेमारी पर मनीष सिसोदिया का कहना है कि “पूछताछ के लिए अभी नहीं बुलाया है। सभी का व्यवहार बहुत अच्छा था, कुछ फाइलें थी मेरे पास। फोन ले गए हैं। मैंने और मेरी फैमिली ने पूरा सहयोग दिया। आगे भी जांच होगी तो सहयोग देंगे। हमने कुछ गलत नहीं किया है, कोई भ्रष्टाचार नहीं किया है।” मनीष सिसोदिया के खिलाफ पीसी एक्ट 1988, 120बी, 477ए वास्तविक अपराध के तहत केस दर्ज किया है।