ब्लैक मनी पर बड़ा करार , स्विट्जरलैंड सूचना देने के लिए तैयार

0
193

नई दिल्ली। भारत यात्रा पर आये स्विट्जरलैंड के राष्ट्रपति डोरिस लॉएटहार्ड और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच दोनों देशों को लेकर आपस में कई मुद्दों पर सहमति बनी है।

दोनों देशों के मध्य सूचनाओं के ऑटोमेटिक एक्सचेंज पर समझौता हुआ है जिसके तहत स्विट्जरलैंड कालेधन को लेकर भारत की मदद करने के लिए तैयार हो गया है। स्विट्जरलैंड और भारत के बीच हुए इस समझौते के तहत 2019 से पहले कालेधन, विदेश में जमा पैसा और स्विट्जरलैंड में प्रॉपर्टी की खरीददारी से जुड़ी सूचनाओें की अदला बदली शुरू हो जाएगी।

इस मौके पर मीडिया से बातचीत में पीएम मोदी ने कहा कि हम अपनी आजादी के 70 सालों के साथ ही अपनी दोस्ती के 70 सालों को भी मना रहे हैं। उन्होंने कहा कि एफडीआई हमारे आर्थिक रिश्तों का आधार है और भारत स्विस निवेशकों का स्वागत करता है। पीएम ने कहा कि मुझे खुशी है कि स्विट्जरलैंड ने आयुर्वेद को पहचाना और इस क्षेत्र में ज्यादा सहयोग देने की इच्छा जताई।

वहीं स्विट्जरलैंड के राष्ट्रपति लॉएटहार्ड ने कहा कि स्किल इंडिया, डिजिटल इंडिया, क्लीन इंडिया, स्टार्ट-अप इंडिया और स्मार्ट सिटी जैसे प्रोग्राम में भारत के सहयोगी बन सकते हैं। बता दें कि यह स्विट्जरलैंड के किसी राष्ट्रपति की चौथी भारत यात्रा होगी।