भारत को लेकर NASA का बड़ा दावा, 2100 तक देश के 12 शहर…

0
41

अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा (NASA) ने आज तक बहुत से दावे किए हैं। जिसमें से बहुत से दावे सही साबित हुए हैं तो वहीं कई दावे गलत भी निकले हैं। इस बीच नासा का एक और दावा सामने आया है। इस बार नासा ने भारत को लेकर एक बड़ा दावा किया है। अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा का कहना है कि आने वाले समय में भारत के 12 शहर पानी में डूब जाएंगे। इन शहरों में ओखा, मोरमुगाओ, भावनगर, मुंबई, मैंगलोर, चेन्नई, विशाखापट्टनम, तूतीकोरन कोच्चि, पारादीप और पश्चिमी बंगाल के किडरोपोर तटीय शामिल हैं।

नासा का दावा है कि आज से 80 साल बाद यानी 2100 तक भारत के 12 शहर 3 फीट पानी में डूब जाएंगे। इसकी वजह उन्होंने ग्लोबल वॉर्मिंग (Global Warming) बताई है। उन्होंने कहा है कि “ग्लोबल वॉर्मिंग (Global Warming) के चलते ध्रुवों पर जमी बर्फ पिघलने लगेगी। जिसके कारण ये सब होने की संभावना है।” गौरतलब हैं कि नासा ने एक सी लेवल प्रोजेक्शन टूल बनाया है। इस टूल की मदद से भविष्य में आने वाली कोई भी आपदा यानी बढ़ते समुद्री जलस्तर का पता कर सकेगा।

नासा ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि “पश्चिम बंगाल का किडरोपोर इलाका, जहां पिछले साल तक समुद्री जलस्तर के बढ़ने का कोई खतरा महसूस नहीं हो रहा है। वहां पर भी साल 2100 तक आधा फीट पानी बढ़ जाएगा।” रिपोर्ट के अनुसार 2100 तक दुनिया का तापमान काफी ज्यादा बढ़ जाएगा जिसकी वजह से ग्लेशियर भी पिघलेंगे। जिससे भारत के कई शहरों में तबाही हो सकती है। इस बीच नासा के एडमिनिस्ट्रेटर बिल नेल्सन का भी बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि “सी लेवल प्रोजेक्शन टूल दुनियाभर के नेताओं और वैज्ञानिकों को यह बताने के लिए काफी है कि अगली सदी तक हमारे कई देशों की जमीन कम हो जाएगी।”