भारत चीन वि’वाद पर PM द्वारा रखी गई बैठक में किया RJD को नजरंदा’ज, तेजस्वी यादव हुए ना’राज़

0
345

पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में 15 जून को चीनी सेना द्वारा की गयी काय’रतापूर्ण हरकत के बाद से भारत और चीन में तना’व अपने चरम पर है। चीन के साथ एलएसी पर हुई हिं’सा और भारतीये सैनिकों की शहाद’त के बाद मौजूद हालात पर चर्चा के लिए शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक (PM All Party Meeting) बुलाई गयी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) द्वारा बुलाई गई इस डिजिटल बैठक में विभिन्न दलों के नेताओं को शामिल होना है। लेकिन इसको लेकर भी राजनीति शुरू हो गई है। इस बैठक में 20 पार्टियों को आमंत्रित किया गया है। सिर्फ उन राष्ट्रीय दलों को ही न्योता दिया गया है जिनकी लोकसभा में पाँच से अधिक सांसद है। इस वर्चुअल बैठक में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) , रक्षा मंत्री राजनाथसिंह (Rajnath Singh), बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे.पी. नड्डा (J.P. Nadda) भी हिस्सा लेंगे। रक्षा मंत्री राजनाथसिंह (Rajnath Singh) ने गुरूवार को पीएम की ओर से सभी नेताओं को वयक्तिगत रूप आमंत्रित किया था।

यह बैठक आज शाम पांच बजे से वर्चुअली होगी, जिसमे विभिन्न दालों के अध्यक्ष शामिल होंगे। बैठक में सभी दालों को पिछ्ले कुछ दिनों से चीन के साथ चल रहे तना’व की जानकारी दी जाएगी । बैठक में कांग्रेस की अध्य्क्ष सोनिया गांधी, उद्धाव ठाकरे, शरद पवार, अखिलेश यादव, हेमंत सोरन, ममता बनर्जी , चंद्रबाबू नायडू शामिल होंगे। इस बैठक के लिए कुछ राजनीतिक दलों जैसे राजद और आम आदमी पार्टी को न्योता नही मिला है , न्योता न मिलने पर राष्ट्रीय जनता दल ने सवाल खड़े किए हैं। बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने इस मामले में ट्वीट कर कहा है की किस आधार पर पार्टियो को इस बैठक के लिए आमंत्रित किया गया है। तेजस्वी ने लिखा है कि इस बैठक के लिए आरजेडी को कोई आमंत्रण नही मिला है। इसको लेकर एक बार फिर से राज’नीति शुरू हो गई है।

बता दें कि इससे पहले राहुल गांधी ने सैनिकों को नि’हत्था भेजने के दावे किए थे जिसके चलते बीजेपी और कांग्रेस के बीच घमा’सान शुरू गया था। बताया जा रहा है कि राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर भी निशा’ना साधते हुए पूछा कि वह “क्यों छिपा रहे हैं।” राहुल गांधी द्वारा किए गए सभी ट्वीट का पलटवार जवाब देते हुए बीजेपी ने कहा “अपरिपक्व और गैरजिम्मेदाराना व्यवहार किया है, जबकि प्रधानमंत्री ने चीन के साथ सीमा विवाद पर शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई है।”