सामने आई ब्यूटी कॉन्टेस्ट की 'घिनौनी' सच्चाई, मॉडल्स ने छोड़ा कम्पटीशन

0
155

देश की जानी-मानी मिस अर्थ इंडिया कंपटीशन में वाइल्ड कार्ड एंट्री विवादों में फंस गई है। पिछले एक महीने से जिन 16 मॉडल्स को दिल्ली में होने वाले ऑडिशन के लिए तैयार किया जा रहा था, रविवार को उनमें से 13 मॉडल्स बदल गईं। इसके अलावा अंतिम दिन मॉडल्स की संख्या भी बढ़ गई।
अचानक हुई इस उथल-पुथल के कारण कोरियोग्राफर और फोटोग्राफर ने भी कंपटीशन छोड़ दिया है। इतना ही नहीं एक मॉडल ने कंपटीशन के तैयारी करवा रही एजेंसी पर कई गंभीर आरोप भी लगाए हैं।
एक महीने से दून में मिस अर्थ इंडिया कंपटीशन की तैयारी चल रही है। इसके लिए देशभर से मॉडल्स चुन ली गई हैं, जबकि उत्तराखंड से पांच मॉडल्स को वाइल्ड कार्ड एंट्री के जरिये सीधे दिल्ली में होने वाले ऑडिशन के लिए भेजा जाना है।
दिल्ली में जो विजेता रहेगी, वह मॉडल मिस अर्थ इंडिया इंटरनेशनल के लिए जाएगी। लेकिन ऑडिशन के अंतिम दिन अचानक 13 मॉडल्स ने यह आरोप लगाते हुए विश्व स्तर की यह प्रतियोगिता छोड़ दी कि आयोजकों का जब मन होता था उनको बुला लिया जाता था।
अपने दोस्तों और दूसरे लोगों को शराब पिलाते और उनके सामने मॉडल्स को कैटवॉक करने के लिए कहा जाता था। मॉडल्स ने आरोप लगाया कि मात्र क्लबिंग करने के लिए उन्हें इस्तेमाल किया जा रहा था। इन 13 मॉडल्स में दो मिस उत्तराखंड भी शामिल थीं।
अचानक 16 में से 13 मॉडल्स के इवेंट छोड़ते ही आयोजक परेशान हो गए। इसके बाद रविवार को मानकों को दरकिनार कर आनन-फानन में लड़कियों को इकट्ठा किया गया। इनके लिए लंबाई और उम्र की कोई शर्त तक नहीं रखी गई।