'….वर्ना 6 महीने बाद मैं मजीठिया को गिरफ्तार कर लूंगा'

0
105

अमृतसर। पंजाब के राजस्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया के मानहानि केस में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी (आप) के नेता संजय सिंह और आशीष खेतान अमृतसर कोर्ट में पेश हुए। केजरीवाल को सुनवाई के दौरान राहत मिली और उन्हें अग्रिम जमानत मिल गई। 15 अक्टूबर को इस मामले में अगली सुनवाई है।
कोर्ट में पेश होने से पहले अरविंद केजरीवाल ने अपने बयान से सुर्खियां बटोर ली। दरअसल केजरीवाल ने कोर्ट में पेश होने से पहले कहा कि मजीठिया में हिम्मत है तो 6 महीने में मुझे गिरफ्तार कर लें, नहीं तो 6 महीने बाद मैं मजीठिया को गिरफ्तार कर लूंगा।
पेशी से पहले केजरीवाल ने अमृतसर की सड़कों पर शक्ति प्रदर्शन किया। बड़ी तादाद में मौजूद अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने बादल सरकार पर जमकर हमला बोला और कहा कि बादल सरकार के दिन अब लद गए। केजरीवाल के साथ संजय सिंह और भगवंत मान समेत पार्टी के कई दूसरे नेता भी मौजूद थे।
अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब बादल सरकार के दिन लद गए हैं। चुनाव में जनता मजीठिया से बदला लेगी। 6 महीने बाद हम सब मिलकर नया पंजाब बनाएंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि मजीठिया ने पंजाब की जवानी को नशे में डुबो दिया।
उन्होंने कहा कि मैंने कुछ दिन पहले कहा था कि मजिठिया नशे का धंधा करता है तो उसने मुझ पर मानहानि का केस लगा दिया। उनकी हिम्मत कैसे हुई..? पंजाब का बच्चा-बच्चा जानता है के मजीठिया नशे का धंधा करता है। उन्होंने कहा कि अगर मेरे ऊपर झूठा पर्चा कर दिया तो आम आदमी का क्या हाल करते होंगे।
बता दें कि मजीठिया की ओर से दायर किए गए केस में माफी न मांगने पर आप नेताओं की गिरफ्तारी हो सकती है। इस दौरान कोर्ट में पेशी से पहले सीएम केजरवाल ने हरमिंदर साहब में मत्था टेका। वहीं अरविंद केजरीवाल, आशीष खेतान और संजय सिंह के साथ एक खुली गाड़ी में सर्किट हाउस से कोर्ट के लिए निकले। इस दौरान कोर्ट में जाने से पहले वो वहां मौजूद हजारों आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं को इसी खुले वाहन से सम्बोधित करेंगे।
गौरतलब है कि इससे पहले 18 जुलाई को अमृतसर की एक निचली अदालत ने मानहानि के एक मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी (आप) के कुछ अन्य नेताओं के नाम समन जारी किया था। पंजाब के राजस्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया की याचिका पर अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत ने केजरीवाल के अलावा आप नेता संजय सिंह और आशीष खेतान को समन जारी कर 29 जुलाई को अदालत में पेश होने के लिए कहा था।
मजीठिया का कहना है कि आप नेताओं को आपराधिक मानहानि के मामले में समन भेजा गया। उन्होंने कहा था कि वह मानहानि के इस मामले की त्वरित सुनवाई चाहते हैं, ताकि आप नेता उनका अपमान करने के लिए जेल जा सकें।
इससे पहले आप नेताओं ने खुले तौर पर मजीठिया को ड्रग रैकेट का मुखिया कहा था और आरोप लगाया था कि राज्य में ड्रग माफिया मजीठिया के संरक्षण में काम कर रहे हैं। मजीठिया ने अपनी याचिका में आप नेताओं की ओर से अपने अपमान की तीन घटनाओं का जिक्र किया है। जिसमें 14 जनवरी को केजरीवाल और संजय सिंह द्वारा मुक्तसर साहिब में मजीठिया के खिलाफ दिया गया बयान, 27 फरवरी को अमृतसर दौरे के दौरान केजरीवाल का बयान और चंडीगढ़ में संजय और आशीष के मजीठिया के खिलाफ दिए गए बयान शामिल है।