सहकारिता बैंकों में 30 करोड़ की धांधली, धन सिंह को मिला भ्रष्टाचार का लाइसेंस!

0
74

देहरादून: कांग्रेस के पूर्व अघ्यक्ष गणेश गोदियाल ने धन सिंह रावत पर बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि धन सिंह रावत को भ्रष्टाचार का लाइसेंस मिल गया है। गणेश गोदियाल का आरोप है कि सहकारिता बैंकों की ओर से 30 करोड़ रुपये के लोन की बंदरबांट की गई है।

गोदियाल का कहना कि मंत्री धन सिंह रावत के विभागों में सबसे अधिक घोटाले देखने को मिल रहे हैं, लेकिन जांच के नाम पर कोई गंभीरता नहीं दिखाई जा रही है। गणेश गोदियाल ने आरोप लगाते हुए कि जब से धन सिंह रावत सहकारिता विभाग के मंत्री बने हैं, तब से लेकर अब तक नित नए-नए घोटाले सामने आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर इन घोटालों की नियमानुसार और इमानदारी से जांच की जाए तो बहुत बड़े घोटाले सामने आएंगे।

गणेश गोदियान ने उत्तरकाशी के मामले का हवाला देते हुए कहा कि सहकारिता बैंकों में 30 करोड़ रुपये के लोन की बंदर बांट कर दी गई। बड़े पैमाने पर यूपी, बिहार समेत दूसरे राज्यों के लोगों को लोन बांट दिए गए। सवाल यह उठता है कि इसमें अघोषित रूप से किसको लाभ पहुंचा गया है।

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को धन सिंह रावत के खिलाफ कार्रवाई से कौन रोक रहा है? ऐसा लगता है कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने उनको उत्तराखंड में भ्रष्टाचार करने का लाइसेंस दिया हुआ है?