उत्तराखंड : कांजी हाउस में गायों की मौत, कांग्रेस मुख्य प्रवक्ता ने लगाए गंभीर आरोप… video

0
53

देहरादूनः कांग्रेस ने नगर निगम पर गंभीर आरोप लगाए हैं। साथ ही भाजपा को भी निशाने पर लिया। उन्होंने आरोप लगाया नगर निगम के कांजी हाउस में जहां लोगों से उगाही का खेल चल रहा है। वहीं, गोवंश की वहां बुरी हालत है। आलम यह है कि कई गायों के गांव में कीड़े पड़े हुए हैं जबकि कुछ की हालत बेहद खराब है। कांग्रेस नेत्रीयों गरिमा मेहरा दसौनी और उर्मिला ढौंढियाल थापा का कहना है कि कांजी हाउस में गौमाता का बुरा हाल है।

दसौनी ने बताया कि आज जब अचानक एक निरीह और गरीब महिला कांग्रेस मुख्यालय गुहार लगाने आई कि नगर निगम प्रशासन ने उसकी गाय पकड़कर कांजी हाउस में डाल दी है और छोड़ने के बदले ₹9000 मांगा जा रहा है और उसने ₹9000 देने मैं असमर्थता जाहिर करी तो राजपुर से कांग्रेस की पार्षद और महानगर महिला कांग्रेस अध्यक्ष उर्मिला थापा ने नगर निगम द्वारा नियुक्त डॉक्टर तिवारी से दूरभाष पर बात की और बताया कि महिला के पास 9000 देने के लिए नहीं है तो डॉक्टर तिवारी ने कहा कि हमने कांजी हाउस में तीन-चार दिन तक उस गाय की सेवा की है। उसको भोजन कराया है। उसके एवज में 9000 देने ही पड़ेगे। ऐसे में कांग्रेस नेत्रियों ने फैसला लिया कि वह स्वयं कांजी हाउस जाकर देखेंगे कि आखिर गौ माताओं की कितनी सेवा हो रही है?

दसौनी ने बताया की वहां पहुंचकर जो नजारा था, वह बहुत ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण था। गौ माताओं की स्थिति अत्यंत दयनीय है। आधा दर्जन से अधिक गौ माता मरी पड़ी हुई थी और उनके ऊपर हजारों मक्खियां भिन्न-भिना रही थी। उसके अलावा चार से पांच गाय गंभीर रूप से घायल अवस्था में मिली जिन्हें बहुत खून बह रहा था और जख्म बहुत गहरे थे। जख्मों को देखकर यह साफ पता लगाया जा सकता था कि उनका कोई तीमारदारी या इलाज नहीं किया गया है।

गौमाता कांजी हाउस में भूख से भी तड़पती भी देखी गई। पानी और भूसे के लिए बनाए हुए कुंड एकदम खाली थे, केयरटेकर से पूछने पर उसने भूसे का आर्डर दिए जाने की बात कही। कांजी हाउस के लिए नियुक्त वेटरनरी डॉक्टर से जख्मी गायों का पूछा तो उन्होंने अपने पास एडवांस दवाई इंजेक्शन ना होने की बात कही। और तो और कांग्रेस की नेत्रियों के फेसबुक लाइव करने के बाद पूरे प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ दिखाई दिया। महापौर ने तुरंत डॉक्टर तिवारी कांजी हाउस भेजे जोकि सुरते हाल पर लीपापोती करने का पूरा प्रयास करते हुए दिखे।

इस अवसर पर महानगर महिला कांग्रेस की अध्यक्षा उर्मिला ढौढियाल थापा ने कहा की प्रत्यक्षण किम् प्रमाणम ?कांजी हाउस की स्थिति देखकर कांग्रेस की नेत्रियों ने धामी सरकार ,पशुपालन मंत्री सौरव बहुगुणा और नगर निगम महापौर सुनील उनियाल गामा को लानत भेजते हुए गौ माता की रक्षा का झूठा ढोंग ना करने की सलाह दी है।

उर्मिला ने कहा कि गौ माताओं को भी अब नगर निगम ने उगाही का केंद्र बना दिया है, गरीब लोगों की गायों को उठाकर कांजी हाउस में पटक दिया जाता है और जहां उनकी कोई देखरेख नहीं की जाती। ना उनके जख्मों का नाही उनकी भूख का इंतजाम किया जाता है, मरी हुई गायों को दफनाने तक की जहमत नगर निगम नहीं उठा रहा है। गौ माताओं को सड़ने के लिए छोड़ दिया गया है। ऐसे में दसोनी ने भाजपा की सरकारों को धिक्कारते हुए कहा कि जनता को हर बार चुनाव के दौरान गौ माता की रक्षा के दावे और वादे करने वाली भाजपा अंदर से एकदम खोखली है और जो महापाप गौ माताओं की दुर्दशा करने का भाजपा ने किया है उसका खामियाजा उसे भुगतना पड़ेगा।

गरिमा माहरा दसौनी ने शासन एवं प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि एक सप्ताह के अन्दर काजी हाऊस के हालात नही सुधरे तो कांग्रेस पार्टी इस मुद्दे को जोरदार तरिकेे से उठाकर गौ माता की दुहाई देने वाले लोगों के खिलाफ सड़क से लेकर सदन तक संघर्ष करने का एचबी

मुख्य प्रवक्ताउ त्तराखंड कांग्रेस

चेतावनी देते हुए कहा कि यदि एक सप्ताह के अन्दर काजी हाऊस के हालात नही सुधरे तो कांग्रेस पार्टी इस मुद्दे को जोरदार तरिकेे से उठाकर गौ माता की दुहाई देने वाले लोगों के खिलाफ सड़क से लेकर सदन तक संधर्ष करने का काम करेगी। प्रेस वार्ता में प्रदेश प्रवक्ता शीशपाल सिंह बिष्ट और महिला कांग्रेस की वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्रीमती शिवानी मिश्रा थपलियाल भी मौजूद रहे।