ट्रेनों का सफर 50 दिनों के लंबे अंतराल बाद शुरू,जानिये कुछ महत्वपूर्ण सूचना………,

0
400

देशभर में लगातार फैल रहे कोरोना वायरस के संकट को देखते हुए केंद्र सरकार ने ट्रेन यात्रा पर रोक लगा दी थी। अब लगभग 50 दिनों के लॉक डाउन के बाद 12 मई से फिर से ट्रेन यात्रा शुरू की जा रही है।रेल मंत्रालय के बाद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी ट्वीट के जरिये इसकी पुष्टि की।जिसके लिये आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर 11 मई को शाम चार बजे से बुकिंग शुरू होगी। रेल यात्रा से सम्बंधित कुछ विशेष और महत्वपूर्ण जा’नकारियां,जिनको जानना अतिआवश्यक है।कुछ इस प्रकार है…………,

★ सूत्रों से मिली जा’नकारी के अनुसार,जो ट्रेन चलाई जा रही हैं, वे वही रूट हैं, जहां पहले से राजधानी ट्रेन चलती हैं। यह ट्रेन भी राजधानी होंगी, जिनके सारे कोच एसी होंगे। इनमें पहले से तय किराया ही लिया जाएगा।यात्रियों की संख्या पर निर्भर होगा कि ट्रेन में कितने कोच जुड़ेंगे।

★ सिर्फ IRCTC की वेबसाइट (www.irctc.co.in) पर उपलब्ध होगी। रेलवे स्टेशनों पर टिकट बुकिंग काउंटर बंद रहेंगे और कोई काउंटर टिकट जारी नहीं किया जाएगा। केवल वैध कन्फर्म टिकट वाले यात्रियों को रेलवे स्टेशनों में प्रवेश करने की अनुमति होगी। आरक्षण के लिए ट्रेनों की बुकिंग 11 मई शाम 4 बजे से ही प्रारंभ होगी।

★ शुरुआत में अभी 15 ट्रेनें ( अप एंड डाउन मिलाकर 30 ) ही चलेंगी,नई दिल्‍ली रेलवे स्टेशन से ये 15 ट्रेनें डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्‍वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरु, चेन्‍नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्‍मूतवी के लिए चलेंगी।

★ सबसे जरूरी बात,वेटिंग और RAC वालों की इस पर चढ़ने की कोई अनुमति नही है।सिर्फ कन्फर्म टिकट वाले ही यात्रा कर सकते हैं
इसके अलावा यात्रा करने वाले सभी यात्रियों की स्क्रीनिंग टेस्ट भी की जाएगी।एक भी कोरोना के लक्षण दिखने वाले यात्रिओं को ट्रेन पर चढ़ने नहीं दिया जाएगा।

★ इसके साथ ही,अधिकारियों ने कहा कि,श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में एक कोच में 72 की जगह 54 सीटों पर ही यात्री थे। लेकिन ये ट्रेनें पूरी क्षमता से चलेंगी, लेकिन यात्री किराये में रियायत नहीं दी जाएगी। आईआरसीटीसी से बुक इन टिकटों पर यात्रियों के लिए तमाम दिशानिर्देश होंगे, जिससे पता चलेगा कि उन्हें क्या करना है और क्या नहीं।

★ बता दें कि,यात्रा के दौरान यात्रियों को फेस मास्क पहनना होगा, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा और थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। सूत्रों के अनुसार, ट्रेनों को रास्ते में केवल प्रमुख स्टेशनों पर स्टॉप दिया जाएगा, जिसका ब्योरा बाद में दिया जाएगा।