आधीरात को ताबड़तोड़ तबादले, IAS समेत 400 बड़े अधिकारियों का ट्रांसफर

0
110

उत्तर प्रदेश शासन ने सात आइएएस अधिकारियों के तबादले किए हैं। प्रमुख सचिव महिला कल्याण एवं खाद्य रसद वीणा कुमारी मीणा से खाद्य एवं रसद विभाग का प्रभार लेते हुए उन्हें प्रमुख सचिव चीनी उद्योग, गन्ना विकास एवं आबकारी नियुक्त किया गया है। इसके साथ ही उन्हें महिला कल्याण विभाग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। प्रमुख सचिव नियोजन आलोक कुमार तृतीय को प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। सचिव राजस्व एवं राहत आयुक्त प्रभु नारायण सिंह को गन्ना आयुक्त बनाया गया है।

अपर मुख्य सचिव चीनी उद्योग, गन्ना विकास एवं आबकारी के साथ ही गन्ना आयुक्त का प्रभार संभाल रहे वरिष्ठ आइएएस अधिकारी संजय भूसरेड्डी शुक्रवार को रिटायर हो गए। इसके दृष्टिगत शासन में यह प्रशासनिक फेरबदल हुआ है। विशेष सचिव माध्यमिक शिक्षा रहे जीएस नवीन कुमार अब विशेष सचिव राजस्व के साथ प्रभारी राहत आयुक्त होंगे। विशेष सचिव एपीसी शाखा बालकृष्ण त्रिपाठी को विशेष सचिव माध्यमिक शिक्षा के पद पर तैनात किया गया है। जम्मू कश्मीर में प्रतिनियुक्ति के बाद लौटकर नई तैनाती का इंतजार कर रहे राहुल पांडेय को अपर आयुक्त गन्ना तथा विशेष सचिव चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास बनाया गया है। प्रतीक्षारत कृतिका ज्योत्सना को विशेष सचिव खाद एवं रसद के पद पर तैनात किया गया है।

व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग में भी शुक्रवार को तबादला एक्सप्रेस दौड़ी। कई राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आइटीआइ) के प्रधानाचार्य, दो संयुक्त निदेशक, एक उप निदेशक सहित बड़ी संख्या में कार्यदेशकों व अनुदेशकों के भी स्थानांतरण किए गए हैं। आइटीआइ, गाजियाबाद के प्रधानाचार्य राज कुमार यादव को आइटीआइ लखनऊ का प्रधानाचार्य बनाया गया है। वहीं आजमगढ़ मंडल के संयुक्त निदेशक एसएन राम को इसी पद पर गोरखपुर मंडल स्थानांतरित किया गया है। गोरखपुर मंडल के संयुक्त निदेशक राजेश राम को देवीपाटन मंडल का कार्यभार सौंपा गया है। राज्य व्यावसायिक प्रशिक्षण परिषद के उप निदेशक रवि भूषण को आटीआइ मैनपुरी का प्रधानाचार्य बनाया गया है। आइटीआइ बहराइच के प्रधानाचार्य प्रदीप अग्निहोत्री को आइटीआइ बांदा का प्रधानाचार्य बनाया गया है।

शुक्रवार देर रात तक विभिन्न विभागों में बड़े पैमाने पर अधिकारियों, अभियंताओं आदि के स्थानांतरण आदेश जारी किए जाते रहे। शासन ने 30 जिलों के बेसिक शिक्षा अधिकारियों (बीएसएस) सहित 99 शिक्षाधिकारियों के भी स्थानांतरण किए गए। इनमें सात मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक (बेसिक) यानी एडी बेसिक भी शामिल हैं। नव प्रोन्नत अधिकारियों की तैनाती के साथ-साथ जिला शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) के प्राचार्य व उप प्राचार्य भी शामिल हैं। अभी तक बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव के साथ-साथ राज्य शैक्षिक तकनीकी संस्थान प्रयागराज के निदेशक का अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे प्रताप सिंह बघेल को प्रोन्नति के बाद कार्यभार में बदलाव किया गया है। बघेल को अब बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव का अतिरिक्त कार्यभार व राज्य शैक्षिक तकनीकी संस्थान के निदेशक की जिम्मेदारी दी गई है। यानी अभी सचिव की कुर्सी उन्हीं के पास रहेगी।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को 225 डाक्टरों व अधिकारियों के स्थानांतरण किए। इसमें 60 जिलों के अपर मुख्य चिकित्साधिकारी (सीएमओ) शामिल हैं। वहीं कई अस्पतालों के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (सीएमएस) के भी तबादले किए गए हैं। देर रात तक स्थानांतरण सूची जारी होती रही। निदेशक (संचारी रोग) डा. एके सिंह को बलरामपुर अस्पताल का नया निदेशक बनाया गया है। वहीं निदेशक (संचारी रोग) का अतिरिक्त कार्यभार फिलहाल निदेशक (चिकित्सा उपचार) डा. केएन तिवारी को सौंपा गया है। प्रांतीय चिकित्सा सेवा संघ के अध्यक्ष डा. सचिन वैश्य व महामंत्री डा. अमित कुमार सिंह ने उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक का आभार जताया है।

कारागार विभाग में जेल अधीक्षकों के बाद 17 जेलरों का भी तबादला कर दिया गया है। इनमें निलंबन से बहाल हुए एक जेलर को भी नई जिम्मेदारी सौंपी गई है। जिन अधिकारियों का तबादला किया गया है, उनमें प्रमुख रूप से पंकज कुमार सिंह को जिला जेल लखीमपुर खीरी से आदर्श कारागार लखनऊ, अजय कुमार को जिला जेल लखनऊ से जिला जेल जौनपुर, वीरेन्द्र कुमार वर्मा को जिला जेल बांदा से जिला जेल सुलतानपुर, राजेश कुमार को जिला जेल सुलतानपुर से जिला जेल मऊ, योगेश कुमार को संबद्ध कारागार प्रशिक्षण संस्थान लखनऊ से जिला जेल बांदा भेजा गया है।

लोक निर्माण विभाग में तैनात 225 अवर अभियंताओं की तबादला सूची तैयार कर ली गई है, जो जल्द जारी होगी। नई स्थानांतरण नीति के तहत शुक्रवार को तबादला करवाने के इच्छुक अवर अभियंताओं को सभागार में बुलाया गया था। पति-पत्नी की एक ही स्थान पर तैनाती व दिव्यांगता के मामलों पर सबसे पहले विचार किया गया। जिन अवर अभियंताओं के बच्चे 10वीं व 12वीं में हैं उनका तबादला भी उनकी मर्जी से करने का निर्णय लिया गया। इसके बाद 190 अवर अभियंता (सिविल), 16 अवर अभियंता (विद्युत-यांत्रिक) एवं 19 अवर अभियंता (प्राविधिक) की तबादला सूची तैयार की गई। प्रमुख अभियंता व विभागाध्यक्ष अरविंद कुमार जैन तथा डिप्लोमा इंजीनियर्स संघ के प्रदेश अध्यक्ष डीएन द्विवेदी ने पूरी प्रक्रिया पर सहमति जताई है।