पाकिस्‍तान को मिलेगा करारा जवाब, संयुक्त राष्ट्र महासभा को आज संबोधित करेंगी सुषमा स्‍वराज

0
112

न्यूयार्क : संयुक्त राष्ट्र महासभा के 71वें सत्र को संबोधित करने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज यहां पहुंच चुकी हैं और सभी की नजरें महासभा में सोमवार को होने जा रहे उनके संबोधन पर टिकी हैं। ऐसा माना जा रहा है कि अपने संबोधन में सुषमा पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की ओर से कश्मीर पर आक्षेपों का एक चुभ जाने वाला जवाब देने वाली हैं। कयास यह लगाए जा रहे हैं कि सुषमा स्वराज अपने भाषण में नवाज शरीफ के हर झूठे दावे की पोल खोलेंगी। उरी हमले को लेकर पाक पीएम नवाज शरीफ को करारा जवाब दे सकती हैं। यह भी कहा जा रहा है कि भारत की ओर से अंतरराष्‍ट्रीय मंच पर पाकिस्‍तान और आतंकवाद के खिलाफ सहयोग की अपील करने की रणनीति को भी सुषमा यहां आगे बढ़ा सकतीं हैं। आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को पूरी दुनिया के सामने बेनकाब करने के लिए भारत पहले ही कमर कस चुका है।
बता दें कि सुषमा रविवार दोपहर यहां पहुंची हैं और आज सुबह वह संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगी। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने एक ट्वीट में कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासभा के 71वें सत्र में भारत के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज न्यूयार्क पहुंचीं। शरीफ ने महासभा में अपने संबोधन के दौरान ज्यादा ध्यान कश्मीर पर ही केंद्रित रखा था। ऐसे में सुषमा से उम्मीद की जा रही है कि वह शरीफ के उस भाषण का कड़ा जवाब देंगी।
शरीफ के भाषण पर भारत ने जवाब के अधिकार का इस्तेमाल किया और पाकिस्तान को ‘आतंकवाद की शरणस्थली’ तथा ऐसा ‘आतंकी देश’ करार दिया, जो आतंकवाद का इस्तेमाल सरकारी नीति के तौर पर करते हुए ‘युद्ध अपराधों’ को अंजाम देता है। संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र में भारत के प्रमुख फोकस को रेखांकित करते हुए संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत सैयद अकबरूद्दीन ने कहा था कि आतंकवाद भारत के साथ-साथ विश्वभर के देशों के लिए ‘प्राथमिक चिंता’ का विषय है। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सुधारों, सतत विकास, जलवायु परिवर्तन और शांति रक्षा जैसी अन्य प्राथमिकताओं को भी सूचीबद्ध किया और इन्हें महासभा के मौजूदा सत्र में भारत की प्राथमिकता बताया।