कोल्हापुर में बाढ़ से जनजीवन अस्तव्यस्त, नदियां खतरे के निशान से ऊपर

0
97

कोल्हापुर : महाराष्ट्र के कोल्हापुर जिले में पिछले पांच-छह दिनों से हो रही लगातार बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। भारी बारिश की वजह से पंचगंगा समेत ज़िले की लगभग सभी नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।
पंचगंगा नदी में ख़तरे से आगाह करने का निशान 39 फीट पर है, जबकि ख़तरे का निशान 43 फीट पर, लेकिन हफ्ते भर से हो रही बारिश से फिलहाल नदी 43 फीट 5 इंच के निशान को पार कर चुकी है। नदी के आसपास बने कई मंदिर भी जलमग्न हो गए हैं। जिले में पानी 72 बराज के ऊपर से बह रहा है।
कोल्हापुर से कोंकण जाने वाली सभी सड़कें भी पानी में डूब गई हैं। कोल्हापुर-रत्नागिरी, कोल्हापुर-गगणबावडा हाइवे पर पानी भरने से इन सड़कों को बंद करना पड़ा है। कोल्हापुर की 25 छोटी बड़ी सड़कें पानी में डूब गई हैं। कई निचले इलाकों में पानी भरने से लोगों को सुरक्षित जगहों तक पहुंचाया गया है। पंचगंगा नदी के पास स्थित सारे गांवों को हाइअलर्ट पर रखा गया है।
कोल्हापुर जिला प्रशासन ने हालात से निपटने के लिए एनडीआरएफ की टीम बुलाई है, जिसमें 40 जवान शामिल हैं। प्रशासन ने चेतावनी दी है कि अगर अगले 48 घंटों में बारिश की रफ्तार नहीं थमीं तो लोगों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।