किसानों के भारत बंद को कांग्रेस का समर्थन, दूसरे विपक्षी दल भी समर्थन में..

0
239

नई दिल्ली: तीन नए कृषि क़ानूनों को लेकर किसानों और मोदी सरकार में गतिरोध बढ़ गया है. किसान संस्थाओं की तरफ़ से आठ तारीख़ को बंद का आह्वान किया गया है. 8 दिसंबर को होने वाले इस ‘भारत बंद’ का समर्थन कांग्रेस और सपा समेत कई विपक्षी दलों ने किया है. ख़बर है किइसमें पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान समेत कई राज्यों के किसान संगठन शामिल हैं. कई राजनीतिक दलों ने भी इस बंद को समर्थन दिया है.

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा, “कांग्रेस ने 8 दिसंबर को भारत बंद का समर्थन करने का फैसला किया है. हम अपने पार्टी कार्यालयों पर भी प्रदर्शन करेंगे. यह किसानों को राहुल गांधी के समर्थन को मजबूत करने वाला कदम होगा. हम यह सुनिश्चित करेंगे कि प्रदर्शन सफल हो.” ऑल इंडिया किसान संघर्ष कोऑर्डिनेशन कमिटी के बैनर तले बुलाए गए भारत बंद में देशभर के 400 से ज्‍यादा किसान संगठन शामिल हैं.

कांग्रेस के अलावा दूसरे राजनीतिक दलों ने भी उसे समर्थन दिया है. तृणमूल कांग्रेस, राष्ट्रीय लोक दल, राजद, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) और सपा ने भी भारत बंद का समर्थन किया है. लेफ्ट पार्टियों में सीपीआई, सीपीआईएम, सीपीआई (एमएल), RSP और ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक ने भी बंद का समर्थन किया है.