क्या INDIA में फूट है! G-20 डिनर ममता के शामिल होने से भड़की कांग्रेस

0
61

G-20 शिखर सम्मेलन के अवसर पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने डिनर कार्यक्रम का आयोजन किया था। इस डिनर समारोह में विदेशी मेहमानों के साथ देश के सभी मुख्यमंत्रियों और केंद्रीय मंत्रियों को डिनर का न्योता भेजा गया था। इस डिनर में बिहार के सीएम नीतीश कुमार, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समेत कई विपक्षी नेता शामिल हुए थे।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे को इस डिनर समारोह में आमंत्रित नहीं किया गया था, जिसकी वजह से कांग्रेस शासित राज्य के कई मुख्यमंत्रियों ने इस समारोह में शामिल न होने का फैसला किया। इसी बीच अब ममता बनर्जी के डिनर समारोह में शामिल होने पर कांग्रेस ने सवाल खड़ा किया है।

कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chowdhury)  ने ममता बनर्जी के डिनर समारोह में शामिल होने पर सवाल खड़ा किया है। पश्चिम बंगाल के कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि ममता बनर्जी के डिनर समारोह में शामिल होने से मोदी सरकार के खिलाफ ममता बनर्जी का रुख कमजोर होगा।

सीएम ममता बनर्जी की रानीतिक मंशा पर कांग्रेस ने उठाया सवाल

अधीर रंजन चौधरी ने आगे ये भी कहा कि अगर ममता बनर्जी इस डिनर पार्टी में शामिल नहीं होती तो आसमान नहीं टूट पड़ता। महाभारत अशुद्ध न हो जाता। कुराण अपवित्र नहीं हो जाता। वहीं, अधीर रंजन चौधरी ने आगे ये भी सवाल उठाया कि ममता बनर्जी के इस डिनर समारोह में शामिल होने के पीछे क्या कोई और मंशा थी।

कांग्रेस नेता ने आगे इस बात पर सभी लोगों का ध्यान खींचा कि खाने की मेज पर बंगाल की मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठीं थीं।  अधीर चौधरी ने यह भी कहा कि कई गैर-भाजपा मुख्यमंत्रियों ने रात्रिभोज कार्यक्रम में भाग लेने से परहेज किया लेकिन ममता बनर्जी जल्दबाजी में दिल्ली पहुंच गईं।

TMC के राज्यसभा सांसद शांतनु सेन ने अधीर रंजन चौधरी की टिप्पणियों पर जवाब दिया। उन्होंने कांग्रेस नेता पर पलटवार करते हुए कहा कि चौधरी को प्रशासनिक दृष्टिकोण से पालन किए जाने वाले कुछ प्रोटोकॉल के बारे में उन्हें टिप्पणी नहीं देना चाहिए। सेन ने कहा, “चौधरी यह तय नहीं करेंगे कि प्रोटोकॉल के तहत राज्य के मुख्यमंत्री जी20 के अवसर पर रात्रिभोज में शामिल होने के लिए कब जाएंगे।”