इस शख़्स के सामने सिर झुकाते हैं बड़े-बड़े फ़िल्मी सितारे, इनकी कहानी जानकर हो जाएँगे हैरान

0
516
Shivaram Bhandare

जहाँ बॉलीवुड से जुड़ी हर बात लोगों के लिए आश्चर्य का विषय होती है वहीं बॉलीवुड में आने वाले लोगों की कहानी भी अक्सर फ़िल्मी कहानी से कम पेंचिदा नहीं होती। कुछ ऐसे ही कहानी है शिवाराम भंडारे की भी। शिवाराम भंडारे जिन्होंने बॉलीवुड में अपना ऐसा नाम कमाया है कि बड़े-बड़े स्टार उनके सामने अपना सिर झुकाते हैं। शिवाराम जिन्हें शिवा के नाम से जाना जाता है सेलेब्रेटी हेयरस्टाइलिस्ट हैं। उनकी एक बाद चेन भी चलती है जिसका नाम है शिवाज़।

शिवा की कहानी किसी फ़िल्मी कहानी से कम नहीं है। इसमें ऐसे-ऐसे उतार चढ़ाव हैं कि आपको लगेगा आप कोई फ़िल्म ही देख रहे हैं। बचपन में पिता को खो देने के कारण पढ़ाई छोड़कर माँ के साथ घर ख़र्च निकालने में जुट गए शिवा ने बहुत छोटी उम्र में ही दुनियादारी के सारे रंग देख लिए थे। साथ। ही पहचान लिया था मेहनत का महत्व भी, शिवा ने जो इतना बड़ा ब्राण्ड अपने नाम के साथ जोड़ा है वो पूरी तरह से उनकी अपनी मेहनत का नतीजा है।

एक ऐसी जगह से आने वाला बच्चा जिसे एक अच्छा बचपन तक नहीं मिल पाया, आज अपना ऐसा नाम बना पाया है तो उसका सबसे बड़ा कारण है लगातार आगे बढ़ने की कोशिश करना और हार न मानते हुए परिस्थिति से लड़ते जाना। शिवा की ज़िंदगी किसी भी इंसान के लिए प्रोत्साहित करने वाली हो सकती है। शिवा के सामने कई तरह की मुश्किलें आयीं लेकिन उन्होंने हर बार सिर्फ़ और सिर्फ़ आगे बढ़ने का ही रास्ता चुना और उनकी मेहनत रंग लायी।

The Journey Of Shiva

शिवा के जीवन की सारी बातों को समेटे एक किताब हाल ही में आयी है जिसका नाम है “The Journey Of Shiva”। इस किताब को लिखा है जयश्री शेट्टी ने। शिवा की कहानी तो सीखने के लिए बहुत कुछ देती ही है लेकिन उसे इतनी अच्छी तरह पेश करने का काम बख़ूबी किया है लेखिका जयश्री शेट्टी ने। शिवा का जीवन काफ़ी कुछ सीखने के लिए प्रेरित कर सकट अहै और ये बात भी बताता है कि अगर हुनर और मेहनत करने का जज़्बा हो तो कोई आपकी राह नहीं रोक सकता।

जो कहते हैं कि मेहनत से आजकल कुछ नहीं होता उन्हें ये किताब ज़रूर पढ़ना चाहिए। साथ ही जो लोग ये कहते हैं कि ग़रीबी से निकल के अमीर होना या नाम कमाना सिर्फ़ फ़िल्मों में होता है उन्हें भी इस किताब को पढ़ना चाहिए इससे उन्हें पता चलेगा कि फ़िल्में आम ज़िंदगी से ही प्रभावित होती हैं। एक बात और इस किताब से सीखी जा सकती है वो ये कि बॉलीवुड में नाम कमाना न आसान है न मुश्किल बस अपने पास कोई प्रतिभा होनी चाहिए और मन में एक हौसला होना चाहिए फिर हर मेहनत रंग लाती है।