केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनधा’रकों को सरकार की तरफ से मिल सकता है यह बड़ा तोहफा..

0
310

शुक्रवा’र को होने वाली केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में बहुत से बड़े बड़े फैस’ले लिए जा सकते हैं। माना जा रहा है कि इस बैठक में कोरोना वाय’रस के कार’ण अर्थव्यवस्था पर होने वाले नुकसान पर चर्चा हो सकती है। साथ ही सं’कट में चल रहे यस बैंक की रिस्ट्रक्चरिंग प्लान को इकोनॉमिक अफेयर्स कमेटी मंजूरी दे सकती है। इस बैठक में केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनधा’रकों को महंगाई भत्ता मिलने का भी अनुमान लगाया जा रहा है। इसके साथ साथ स्पेशल इन्सेंटिव स्कीम RoDTEP को भी निकासी मिल सकती है। बता दें कि यह स्कीम निर्या’तकों के लिए है। यह सरकार की एक ऐसी स्पेशल स्कीम है जिसमें निर्यात होने वाले उत्पादों पर टैक्स और ड्यूटी को लेकर कुछ राहत मिल सकती है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवा’र सुबह होने वाली कैबिनेट और CCEA की बैठक में यस बैंक के रिस्ट्रक्चरिंग को मंजूरी दे दी जाए। वहीं भारतीय स्टेट बैंक की एग्जीक्यूटिव कमेटी ऑफ सेंट्रल बोर्ड ने यस बैंक में 725 करोड़ शेयर खरीदने की मंजूरी दे दी है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया यस बैंक के शेयर 10 रुपये प्रति शेयर के भाव से खरीदेगा। यस बैंक के कुल 725 करोड़ शेयर हैं। जिसका मतलब यह हुआ कि एसबीआई 7,250 करोड़ रुपये खर्च कर के यस बैंक को सं’कट से निकालने की कोशिश करेगा।

कल होने वाली इस कैबिनेट बैठक में केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनधा’रकों की नजर महंगाई भत्ते पर भी होगी। सूत्रों की जानकारी के मुताबिक बैठक में कर्मचारियों और पेंशनधा’रकों के लिए सरकार 4 फीसदी महंगाई भत्ता देने का ऐलान कर सकती है। हाल ही में केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने​ राज्यसभा में लिखित जवाब में बताया था कि मार्च के महीने की तनख्वाह के साथ कर्मचारियों और पेंशनधा’रकों को महंगाई भत्ता भी दिया जाने लगेगा।