फ्रांस को हरा पुर्तगाल बना यूरो कप चैंपियन

0
188

स्टार खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो के चोटिल होकर पहले ही हाफ में बाहर होने के बाद उम्मीदें खो चुकी पुर्तगाल की टीम ने अतिरिक्त समय में स्थानापन्न खिलाड़ी एडर के शानदार गोल की बदौलत उतार चढ़ाव भरे बेहद ही रोमांचक फाइनल मुकाबले में मेजबान फ्रांस को 1-0 से हराते हुए यूरो कप खिताब अपने नाम कर इतिहास रच दिया।
मैच के निर्धारित 90 मिनटों में कोई भी टीम गोल नहीं कर सकी और मुकाबला गोल रहित रहा। इसके बाद मुकाबला अतिरिक्त समय में चला गया। 15 मिनट के पहले अतिरिक्त समय में भी कोई टीम गोल नहीं कर सकी लेकिन 15 मिनट के दूसरे अतिरिक्त समय में पुर्तगाल ने गोल स्कोर कर मैच को रोमांचक मोड़ पर ला दिया।
पुर्तगाल के स्थानापन्न खिलाड़ी एडर ने 109वें मिनट में 25 मीटर की दूरी से लाजवाब गोल दाग कर टीम को बढ़त दिला दी। खेल की समाप्ति तक फ्रांस की टीम इस गोल की बराबरी नहीं कर सकी और पुर्तगाल ने मुकाबला 1-0 से जीत लिया।
यह पुर्तगाल के फुटबॉल इतिहास का पहला अंतर्राष्ट्रीय खिताब है। इससे पहले टीम को साल 2004 के यूरो कप के फाइनल में यूनान के हाथों हार का सामना करना पड़ा था।
मैच की शुरुआत में ही पुर्तगाल को झटका लग गया जब स्टार स्ट्राइकर रोनाल्डो आठवें मिनट में ही फ्रांस के मिडफील्डर दिमित्री पाएट से टकराकर चोटिल हो गए। देश को पहली बार चैंपियन बनाने का सपना लिए रोनाल्डो चोट के बावजूद डटे रहे लेकिन 24वें मिनट में उन्हें मैदान से बाहर जाना पड़ा। इसके बाद रोनाल्डो की आंखों से आंसू निकल पड़े और स्टेडियम में मौजूद पुर्तगाली समर्थकों के चेहरे पर निराशा फैल गई। रोनाल्डो पूरे मैच में बाहर ही रहे।
इसके बाद नानी ने पुर्तगाल की कमान संभाल ली। फ्रांस ने निर्धारित समय में पुर्तगाल के गोल पर कई आक्रमण किए लेकिन पुर्तगाल के गोलकीपर लुइस पेट्रीश्यो ने शानदार कीपिंग के जरिए फ्रांस के हर मौके को बेकार कर दिया। मैच के दौरान एंटोएन ग्रिजमेन के एक शानदार हेडर पर पेट्रिश्यो ने बेहतरीन बचाव किया। निर्धारित समय के अंतिम क्षणों में भी फ्रांस के जीनिएक ने एक शॉट लिया जो पोस्ट से टकराकर बाहर आ गया। 90 मिनट की समाप्ति तक मुकाबला गोलरहित रहा।
इसके बाद अतिरिक्त समय का पहला हाफ शुरू हुआ जहां दोनों टीमों ने अपना दबदबा बनाने का प्रयास जारी रखा लेकिन किसी को सफलता हाथ नहीं लगी। दोनों टीमों ने विपक्षी पोस्ट पर आक्रमण जारी रखा। कप्तान रोनाल्डो के बिना खेल रही पुर्तगाल की टीम को पेनल्टी शूटआउट तक मैच ले जाने के लिए बस 15 मिनट और निकालने थे लेकिन इसके बाद अचानक स्थानापन्न खिलाड़ी एडर ने सबको हैरान करते हुए गोल कर दिया। एडर ने बॉक्स के बाहर तकरीबन 25 मीटर दूरी से शानदार ग्राउंड किक जड़ी और मेजबान गोलकीपर व कप्तान ह्यूगो लॉरिस को छकाते हुए गोल कर दिया।
अंतिम सीटी बजने तक यह बढ़त कायम रही और इसके साथ ही 95 वर्षों से फुटबॉल खेल रही पुर्तगाल की टीम ने इतिहास रच दिया। पुर्तगाल के खिलाड़ी अपनी भवनाओं पर काबू नहीं कर सके और मैदान पर जश्न में सराबोर हो गए। वहीं दूसरी तरफ तीसरी बार यूरो कप जीतने का सपना चकनाचूर होने से फ्रांस के खिलाड़ी और प्रशंसक निराशा में डूब गए।