कोरोना वाय’रस के कार’ण मुंबई के इस मशहूर मंदिर में दर्श’न न करने का आदेश हुआ जारी..

0
399

दुनियाभर में कोरोना वाय’रस के मामलों में इज़ाफ़ा होता ही जा रहा है। सोमवा’र को भारत में कोरोना वाय’रस के मामले 116 तक पहुंच गए। इन मामलों में वह दो लोग भी शामिल है जिनकी इस ख़तर’नाक वाय’रस द्वारा मौ’त हो गई थी। दरअसल गुरुवा’र को कर्नाटक के कलबुर्गी के 76 वर्षीय व्यक्ति जो सऊदी अरब से लौटा था, उसकी मौ’त हो गई थी। इसके साथ ही दिल्ली में भी शुक्रवा’र को 68 वर्षीय एक महिला की मौ’त हो गई थी। बताया जा रहा था कि यह महिला कोरोना वाय’रस से संक्रमित पाई गई थी जिसे राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था और वहीं उसकी मौ’त भी हो गई।

वहीं कोरोना वाय’रस के कहर से दुनियाभर के प्रसिद्ध मंदिरों और गुरुद्वारों में भी लोगों को जाने से मना किया जा रहा है। हाल ही में महारा’ष्ट्र के सिद्धि विनायक मंदिर में भी श्रद्धालुओं की एंट्री को बंद कर दिया गया है। न्यूज एजेंसी के अनुसार, सोमवा’र को महारा’ष्ट्र के मशहूर सिद्धि विनायक मंदिर में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। यह प्रतिबंध अगले आदेश तक जारी रहेगा। इससे पहले रविवा’र को मुंबई पुलिस ने विदेशी या घरेलू पर्यटन स्थलों पर यात्रा कराने से टूर ऑपरेटरों को रोकने के लिए सीआरपीसी की धा’रा 144 भी लागू कर दी।

बता दें कि इससे पहले देश के और भी बहुत से मंदिरों में इस वाय’रस से बचने के लिए क़दम उठाए गए हैं। रविवा’र को ही वैष्णो देवी यात्रा का प्रबंधन करने वाले श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने प्रवासी भारतीयों और विदेशियों को भारत आने के 28 दिन बाद तक मंदिर नहीं आने को कहा। बोर्ड ने कहा कि जिन लोगों को खांसी, बुखार और सांस लेने में परेशानी के हैं, वह भी यात्रा कैंसल कर दें। एसएमवीडीएसबी ने कहा कि कोरोना वाय’रस के प्रभाव से बचाने लिए एहतियातन कदम उठाए गए हैं।