चार सालों बाद RBI ने किया ब्याज दरों में इजाफा, अब महंगा पड़ेगा घर-कार खरीदना…

0
73

देश में महंगाई की मार हर तरह से आम आदमी को ही पड़ रही है। पहले चीजों पर दाम बढ़ाए गए और अब खबर है कि लोन की ईएमआई (Loan EMI) भी बढ़ाई जा रही है। जानकारी के अनुसार भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने रेपो रेट बढ़ाने का ऐलान कर दिया है। बता दें कि 2 सालों बाद भारतीय रिजर्व बैंक रेपो रेट में बदलाव करने का फैसला किया है। साल 2020 में रेपो रेट 4 फीसदी था। लेकिन अब 2 साल बाद इसको बढ़ाकर 4.40 कर दिया गया है। वहीं, कैश रिजर्व रेशियो (CRR) में भी 50 बेसिस प्‍वाइंट की बढ़ोतरी की गई है, जो कि ब्याज दरों पर और दबाव बनाएगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रेपो रेट से मतलब होता है कि रिजर्व बैंक जिस रेट पर अन्य बैकों को कर्ज देती है। इसी आधार पर बैंक अपने ग्राहकों को लोन देता है। रेपो रेट कम होने का मतलब होता है कि ग्राहकों को कम दाम पर लोन देगी और रेपो रेट बढ़ने का मतलब है कि अब लोन महंगा हो जाएगा। यहां अब रेपो रेट बढ़ने का साफ मतलब है कि होम लोन, ऑटो लोन, पर्सनल लोन की ईएमआई में बढ़ोतरी की जाएगी।

केंद्रीय बैंक जल्दी ही इसकी सूचना दे सकती है। बताते चले कि इससे पहले साल 2018 में ईएमआई में बढ़ोतरी की गई थी। अब चार सालों बाद फिर एक बार ईएमआई में बढ़ोतरी होने की संभावना है। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास का कहना है कि ये देश की अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए किया जा रहा है। ऐसे में अब जल्दी ही बैंक अपनी ब्याज दरों में वृद्धि की घोषणा कर देगी।