भारतीय वायुसेना ने की लोगों से बेबुनियाद अटकलों से बचने की अपील, कहा “जल्दी ही तथ्य सामने आएंगे…”

0
103

बुधवार को तमिलनाडु के नीलगिरि में हुए हादसे में 14 लोगों की मौत हो गई। बता दें कि यहां भारतीय वायुसेना का एक हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया, जिसमें भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत भी मौजूद थे। जानकारों की मानें तो Mi सीरीज के हेलीकॉप्‍टर ने सुलुर (Sulur) आर्मी बेस से उड़ान भरी थी, इसके कुछ ही देर बाद ये नीलगिरि में हादसे का शिकार हो गया था। बता दें कि इस हेलीकॉप्टर में बिपिन रावत की पत्नी मधुलिका रावत भी उनके साथ मौजूद थीं। शुक्रवार को दिल्ली में उनका अंतिम संस्कार होगा।

गौरतलब हैं कि अभी हादसे की पूरी जानकारी नहीं मिली है। फिलहाल जांच जारी है। ऐसे में भारतीय वायुसेना ने शुक्रवार को ट्वीट करते हुए लोगों से गलत अफवाहों से बचने की अपील की। भारतीय वायुसेना ने दावा किया कि जल्दी ही मामले की जांच पूरी करली जाएगी और सच सबके सामने आजाएगा। ट्वीट में लिखा कि “भारतीय वायुसेना ने 08 दिसंबर को हेलीकॉप्टर दुर्घटना के कारणों की जांच के लिए एक Tri-Service ऑफ इंक्वायरी का गठन किया है। जांच तेजी से पूरी की जाएगी और तथ्य सामने आएंगे। तब तक, मृतकों की गरिमा का सम्मान करते हुए बेबुनियाद अटकलों से बचें।”

बता दें कि इससे पहले संसद में इस मामले पर बयान देते हुए देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि “दुर्घटना की जांच के लिए एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह की अध्यक्षता में तीनों सेनाओं के एक दल द्वारा जांच किए जाने का आदेश दिया गया है और इस दल ने वेलिंगटन पहुंचकर जांच का काम शुरू कर दिया है।” गौरतलब हैं कि जनरल बिपिन रावत की मौत से पूरा देश गम में है। देश के सभी बड़े राजनेताओं ने जनरल रावत की मौत पर दुख व्यक्त किया और श्रद्धांजलि भी अर्पित की।