हरिद्वार में रह रहा था बांग्लादेशी आतंकी, खुफिया विभाग और पुलिस को नहीं लगी भनक

0
3

ह्हरिद्वर :UP ATS पिछले कुछ समय से लगातार जगबा-ए-हिन्द के आतंकियों को गिरफ्तार किया है। UP ATS ने अभियान चलाकर आतंकी संगठन अलकायदा इंडियन सब कॉन्टिनेंट (AQIS) और सहयोगी जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश (JMB) के आठ संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है।

इन आतंकियों की गिरफ्तार के बाद अब उत्तराखंड पुलिस और इंटेलीजेंस पर सवाल उठ रहे हैं। इनकी गिरफ्तारी पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सहारनपुर, शामली और उत्तराखंड से की गई है। बड़ा सवाल यह है कि हरिद्वार में बांग्लादेशी मदरसा चला रहा था और खुफिया विभाग को भनक तक नहीं लगी।

CM धामी बार-बार डेमोग्राफी चेंज को लेकर निर्देश दे रहे हैं। मदरसों के सत्यापन की बातें भी कही गयी है, लेकिन उस पर भी अम्ल नहीं किया गया। UP ATS की कार्रवाई के बाद अब उत्तराखंड पुलिस और खुफिया विभाग से जवाब देते नहीं बन रहा है।

गिरफ्तार आतंकियों में सहारनपुर के लुकमान, कारी मुख्तार, कामिल, नवाजिश अंसारी और मो. अलीम, शामली के शहजाद और उत्तराखंड के मुदस्सिर और अलीनूर शामिल हैं। अलीनूर हरिद्वार में छिपकर रह रहा था। वह मूल रूप से बांग्लादेश का नागरिक है।

जानकारी के अनुसार, इसी वर्ष मार्च व अगस्त में भोपाल से NIA ने AQIS व JMB के तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया था। इनके खुलासे के आधार पर UP ATS एटीएस भी छानबीन में जुटी हुई थी।

गजवा-ए-हिंद के मंसूबे को पूरा करने के लिए दोनों संगठन भारत में अवैध घुसपैठ कर सीमावर्ती राज्यों में कट्टरपंथी विचारधारा वाले व्यक्तियों को जोड़ रहे हैं और वहां के मदरसों में अपनी जड़ें मजबूत कर रहे हैं।