मायावती के बयान पर निर्मला सीतारमण का पलटवार

0
189

नई दिल्ली – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मुखिया मायावती के एक बयान पर विवाद बढ़ गया है। बसपा सुप्रीमो ने सोमवार को कहा कि पीएम मोदी ने अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए अपनी पत्नी को छोड़ दिया, तो फिर वो दूसरों की बहनों और बहुओं का सम्मान कैसे कर सकते हैं। मायावती के इस बयान पर भारतीय जनता पार्टी ने पलटवार किया है। बीजेपी नेता और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, “मायावती का पीएम के बारे में ऐसा कहना बेहद निराशाजनक और चौंकाने वाला है।

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, “बीएसपी अध्यक्ष मायावती का प्रधानमंत्री पर, उनकी निजी जिंदगी और बीजेपी में महिलाओं पर दिया गया घटिया बयान निराशाजनक और चौंकाने वाला है। बहन मायावती निश्चिंत रहिए, हम बिल्कुल सुरक्षित हैं और पार्टी के साथ हमारे बिल्कुल पेशेवर संबंध हैं। उनका यह बयान दर्शाता है कि उनके पास किसी पद या संस्थान के लिए कोई सम्मान नहीं बचा है।” यही नहीं सीतारमण ने आगे कहा, “मायावती समझ चुकी हैं कि उनका गठबंधन लोकसभा चुनाव में कहीं नहीं है और यही उनकी चिंता और असुरक्षा की भावना का कारण है।”

बीजेपी नेता विजय सोनकर शास्त्री ने इस दौरान कहा, “चुनाव अंतिम दौर में है, अब स्पष्ट हो चुका है कि मोदी जी के नेतृत्व में पूर्ण बहुमत की सरकार बनने जा रही है। ऐसे में विपक्ष की हताशा, निराशा का परिणाम है कि वो गलत भाषा का उपयोग कर रहे हैं, व्यक्तिगत टिप्पणी कर रहे हैं। मायावती की ओर से की गई टिप्पणी इसका ताजा उदाहरण है। उन्हें महसूस हो चुका है इस बार भी उत्तर प्रदेश में उनका खाता नहीं खुलने वाला है, इसलिए वो ऐसी बातें कर रही हैं। मायावती, कांशीराम और अंबेडकर के मिशन का दुरुपयोग कर रही हैं।”

बता दें कि बसपा अध्यक्ष मायावती ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा, “नरेंद्र मोदी अलवर गैंगरेप केस पर चुप रहे और अब इस मामले के जरिए गंदी राजनीति खेलने की कोशिश कर रहे हैं, ताकि लोकसभा चुनावों में उन्हें और उनकी पार्टी को फायदा मिल सके। यह बेहद शर्मनाक है। जब उन्होंने अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए अपनी पत्नी को छोड़ दिया तो फिर वो दूसरों की बहनों और बहुओं का सम्मान कैसे कर सकते हैं। मुझे तो ये भी मालूम चला है कि भाजपा में, खासकर विवाहित महिलाएं अपने आदमियों को श्री मोदी के नजदीक जाते देखकर, ये सोचकर भी काफी ज्यादा घबराती रहती हैं कि कहीं ये मोदी अपनी औरत की तरह हमें भी अपने पति से अलग ना करवा दे।”