नेहरू ने किया पंजाब का बंटवारा, पाक एजेंट हैं सिद्धू – हरसिमरत कौर

नई दिल्ली – कांग्रेस और गांधी परिवार पर केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने तीखा हमला किया है। पंजाब के बंटवारे के लिए केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को जिम्मेदार ठहराया है। हरसिमरत कौर ने कहा कि अगर पंजाब का विभाजन हुआ, तो ये जवाहरलाल नेहरू का निर्णय था, ये सीमा 2 किमी और अधिक हो सकती थी। उन्होंने कहा कि सिखों को दबाने और उनका मनोबल तोड़ने के लिए जवाहरलाल नेहरू ने पंजाब को विभाजित कर दिया। इसके बाद आकर इंदिरा गांधी ने स्वर्ण मंदिर पर हमला किया।

हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि इंदिरा गांधी ने स्वर्ण मंदिर पर हमला किया और वहां हजारों बेगुनाहों को मार डाला। उसके बाद उनके बेटे राजीव गांधी आए जिन्होंने राजनीतिक कारणों से सिखों का नरसंहार किया और अब राहुल गांधी पाकिस्तान की भाषा बोलते हैं। हरसिमरत कौर ने कहा, ‘1984 के सिख विरोधी दंगों के मामले में न्याय मिल चुका है। करतारपुर कॉरिडोर के लिए काम शुरू हो चुका है।’

हरसिमरत कौर ने कहा, ‘1984 के सिख दंगों के मामले में न्याय मिल चुका है। करतारपुर कॉरिडोर के लिए काम शुरू हो चुका है। अगर आप पीएम और इस सरकार के साथ खड़े नहीं होते हैं, तो मैं आश्वासन दे सकती हूं कि कांग्रेस और गांधी परिवार वार्ता और आतंक के बहाने इसे पटरी से उतार देंगे।’

हरसिमरत कौर ने नवजोत सिद्धू पर भी निशाना साधा। नवजोत सिद्धू के दावे पर हरसिमरत बादल ने कहा कि वे इमरान खान से दोस्ती निभा रहे हैं। केंद्र के प्रयासों से ही करतारपुर कॉरिडोर का प्रस्ताव पास हो सका। हरसिमरत कौर ने कहा कि वह पाक एजेंट हैं और निश्चित रूप से उन्हें पाकिस्तान के बारे में बोलना ही होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here