उन्नाव गैंगरेप की जांच के लिए एसआईटी गठित

0
40

उन्नाव गैंगरेप मामले में प्रदेश की योगी सरकार की मुश्किलें काफी बढ़ गयी है। वहीं विपक्ष इस मुद्दे को सियासी जमा पहनाने में जुटी है। समाजवादी पार्टी के नेता सुनील यादव ने योगी सरकार पर इस मामले में जमकर हमला बोला है। दूसरी ओर प्रदेश सरकार ने इस मामले की जाँच के लिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) का गठन किया है।

आपको बता दें कि रविवार को लखनऊ में मुख्य मंत्री आवास के सामने पीड़ित युवती और उसके परिजनों ने सरकार पर अपने विधायक को बचने का आरोप लगते हुए आत्मदाह का प्रयास किया था। सोमवार को एक न्यूज़ चैनल से बात करते हुए बलात्कार की पीड़ित युवती ने भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर यह कहते हुए आरोप लगाया था कि भाजपा विधायक और उनके भाई अतुल सिंह ने उसके साथ दुष्कर्म किया और अब उसे जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। विधायक के गुर्गे आए दिन उसके और परिवार के लोगों के साथ मारपीट किया करते हैं।

पीड़िता रविवार को मुख्यमंत्री आवास के सामने अपनी मां, चाची, दादी, चार बहनों व एक मासूम भाई के साथ पहुंची थी। इन लोगों ने खुद पर मिट्टी तेल छिड़ककर आत्मदाह का प्रयास किया था। पीड़िता का आरोप था कि पुलिस में शिकायत करने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हुई। न्याय न मिलने पर वह परिवार संग आत्मदाह के लिए मजबूर हुई।

गौरतलब है कि सोमवार को युवती के पिता की जेल में मौत हो गई थी, जिसके बाद मामला काफी बढ़ गया था। युवती के बयान के मुताबिक, अदालत में चल रहा एक मुकदमा वापस लेने से इनकार करने पर पांच दिन पहले विधायक के भाई और उनके गुर्गों ने उसके पिता को पेड़ से बांधकर बुरी तरह पीटा था और घसीटते हुए ले गए थे। बाद में पता चला कि पुलिस से मिलीभगत के कारण फर्जी मामला दर्ज करवाकर उसके पिता को उन्नाव जिला जेल भिजवा दिया गया. सोमवार को खबर आई कि उसके पिता ने जेल में दम तोड़ दिया है। पीड़िता के पिता की मौत के बाद पुलिस प्रशासन हरकत में आया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here