अप्रैंटिस छात्रों ने चार घंटे तक रोक दी मुंबई की धड़कन

0
39

मुंबई :रेलवे में स्थाई नौकरी की मांग को लेकर अप्रैंटिस छात्रों ने मंगलवार सुबह आंदोलन शुरू कर दिया। यह आंदोलन करीब 4 घंटे तक चला। छात्रों ने मुंबई की जान और वहां की जिंदगी की रफ्तार कही जाने वाली लोकल ट्रेनों को माटुंगा और छत्रपति शिवाजी टर्मिनिल रेलवे स्टेशन के बीच ट्रैक को जाम कर रोक दिया, जिससे आम जन-जीवन कुछ देर के लिए प्रभावित हो गया। छात्र अभी भी रेलवे ट्रैक के बगल में डटे हुए हैं।

आंदोलनकारी छात्रों की मांग है कि 20 फीसदी कोटा को हटा दिया जाए और स्थायी नौकरी दे दी जाए। इन अप्रेंटिस छात्रों का कहना है कि वे सालों तक काम कर चुके हैं लेकिन इन्हें स्थाई नौकरी नहीं मिल रही है।

छात्रों के आंदोलन पर राजनीति भी गरमा गयी है। आंदोलनकारियों को कांग्रेस और एमएनएस का समर्थन प्राप्त है। बातचीत से मामले को सुलझाने और छात्रों को पटरी से हटाने गयी पुलिस पर आंदोलनकारी छात्रों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया। इसमें किसी के घायल होने की खबर नहीं है।

अपनी मांगों को लेकर छात्र आंदोलन के दौरान रेलवे पटरियों पर बैठ गये जिस कारण ट्रेनों का आवागमन बाधित हो गया। ट्रेनों के आवागमन के बाधित होने के कारण लाखों यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। ऑफिस टाइम होने और सीएसटी-माटुंगा की लाइन पर ज्यादा ट्रैफिक होने से आम लोगों को भी परेशानी हुई। लोकल ट्रेनों के साथ ही लंबी दूरी के ट्रेनें भी आंदोलन के कारण देर हो गयीं।

महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने आंदोलन को लेकर कहा कि नियम में कोई बदलाव नहीं किया गया है। अप्रेंटिस छात्रों के लिए 20% सीट आरक्षित है। वे ज्यादा सीट की मांग कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here