‘पद्मावत’ को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे भंसाली

0
22

विवादित फिल्म पद्मावती का नाम बदल कर पद्मावत कर देने के बावजूद भी कई राज्यों ने फिल्म को अपने यहां बैन कर दिया है। राज्यों के इस निर्णय के खिलाफ निर्माता सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं। हरियाणा, गुजरात समेत कुल 6 राज्यों ने पद्मावत फिल्म को सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट मिलने के बाद भी बैन कर दिया है। हरियाणा ने मंगलवार को ही फिल्म को सुरक्षा कारणों के कारण बैन किया है। निर्माता इन राज्यों के निर्णय के खिलाफ उच्चतम न्यायालय गए हैं।

महत्वपूर्ण बात यह है कि जिन राज्यों ने अपने यहाँ फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगा दिया है उन सभी राज्यों में भाजपा की सरकार है। इन सभी भाजपा शासित राज्यों ने फिल्म को सेंसर बोर्ड से प्रमाणपत्र मिलने के बावजूद भी बैन कर दिया है। संजय लीला भंसाली ने सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट मिलने के बाद फिल्म को 25 जनवरी को रिलीज करने का फैसला लिया है। भंसाली ने फिल्म का नाम भी ‘पद्मावती’ से बदलकर ‘पद्मावत’ कर दिया है। खबरों की मानें तो फिल्म में काफी कट्स भी लगे हैं। इसके साथ ही फिल्म से पहले एक बड़ा सा डिस्क्लेमर भी जारी किया गया है। इतना सब करने के बावजूद फिल्म पर संकटों का साया बरकरार है।

देश के 6 राज्यों में फिल्म पद्मावत को बैन कर देने के बाद अब मेकर्स के पास सुप्रीम कोर्ट के अलावा कोई विकल्प ही नहीं बचा है। फिल्म पिछले साल 1 दिसंबर को रिलीज होनी थी लेकिन राजपूत करणी सेना ने देशभर में विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। आक्रामक विरोध प्रदर्शन और सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट न मिलने के कारण फिल्म 1 दिसंबर को रिलीज नहीं हो पाई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here