जानिए : नए साल में सबसे पहले जन्म लेनेवाली लड़की को क्या मिलेगा

0
367

कर्नाटक। राजधानी बेंगलुरू के महापौर आर. संपत राज ने शुक्रवार को घोषित किया कि 1 जनवरी 2018 को शहर के किसी भी सरकारी अस्पताल में समान्य प्रसव के जरिए जन्म लेने वाली पहली लड़की को स्नातक तक की शिक्षा मुफ्त प्रदान की जाएगी। इससे समाज में एक सन्देश जायेगा कि लड़कियों को बोझ नहीं समझा जाए। उन्होंने यह भी कहा कि बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) अपने आयुक्त और 2018 में जन्म लेने वाली पहली लड़की के संयुक्त बैंक खाते में पांच लाख रुपये जमा कराएगी और इस पर मिलने वाले ब्याज का इस्तेमाल लड़की की शिक्षा के लिए किया जाएगा।

राज ने कहा कि प्रसव के लिए सरकारी अस्पतालों में जाने वाली गर्भवती महिलाएं गरीब परिवार की होती हैं और दुर्भाग्य से उन्हें लगता है कि लड़कियों को पालना एक भारी बोझ है।

सर्व प्रथम जन्म लेने वाली बच्ची का पता लगाने के लिए सरकारी अस्पतालों के स्वास्थ्य अधिकारी 31 दिसंबर की मध्यरात्रि के बाद और 1 जनवरी के पहले घंटे या शुरुआती घंटों में पैदा होने वाली बच्चियों के जन्म के समय को रिकॉर्ड करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि ऑपरेशन के जरिए प्रसव कभी भी किया जा सकता है इसलिए सरकारी अस्पतालों के चिकित्सकों ने केवल प्राकृतिक प्रसव के माध्यम से जन्म लेने वाली बच्ची को ही यह पुरस्कार देने का निर्णय लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here