पाकिस्तान ने मोदी को दी नसीहत, कहा – हमारा नाम मत घसीटो अपने दम पर जीतो

0
302

नई दिल्‍ली: रविवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरात में चुनाव रैली में पाकिस्‍तान पर आरोप लगाते हुए कहा था कि वह इन चुनावों में हस्‍तक्षेप कर रहा है. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्‍तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता मोहम्‍मद फैसल ने सोमवार को कहा कि गुजरात विधानसभा चुनावों के लिये चुनाव प्रचार के दौरान भारतीय नेताओं को अपनी घरेलू राजनीति में पाकिस्तान को नहीं घसीटना चाहिए। फैसल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ”अपने चुनावी बहस में भारत अब पाकिस्तान को घसीटना बंद करे और ऐसे मनगढ़ंत षड्यंत्रों के बजाय अपने दम पर जीत हासिल करे जो बिल्कुल निराधार एवं गैरजिम्मेदार हैं।”

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को गुजरात के पालनपुर में आयोजित चुनावी रैली में आरोप लगाया कि पाकिस्तान गुजरात विधानसभा चुनावों में हस्तक्षेप कर रहा है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि पाकिस्तान अहमद पटेल को गुजरात का मुख्य मंत्री बनते देखना चाहता है। पीएम मोदी ने चुनावी सभा में कांग्रेस से उसकी पार्टी के आला नेताओं के हाल ही में पड़ोसी देश के नेताओं से मिलने पर स्पष्टीकरण भी मांगा। प्रधानमंत्री ने पाकिस्तानी सेना के पूर्व महानिदेशक सरदार अरशद रफीक द्वारा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाने की कथित अपील को लेकर सवाल उठाए।

यह सारा विवाद तब उठ खड़ा हुआ जब कांग्रेस के बड़े नेता मणिशंकर अय्यर ने मोदी पर जुबानी हमला करते हुए उन्हें ”नीच” कहा। जवाब में मोदी ने पालनपुर के चुनावी रैली में पलटवार करते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर और कांग्रेस के आला नेताओं के पाकिस्तानी नेताओं से मुलाकात करने के एक दिन बाद उन्हें ‘नीच’ कहा था।

प्रधानमंत्री ने चुनावी सभा को सम्बोधित करते हुए कहा, “मीडिया में मणिशंकर अय्यर के आवास पर हुई बैठक के बारे में कल खबरें थीं। इसमें पाकिस्तान के उच्चायुक्त, पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री, भारत के पूर्व उपराष्ट्रपति और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने हिस्सा लिया।” मोदी ने कहा कि अय्यर के आवास पर तकरीबन तीन घंटे तक बैठक चली।
उन्होंने कहा उपस्थित जनता को सम्बोधित करते हुए कहा कि एक तरफ पाकिस्तानी सेना के पूर्व डीजी गुजरात के चुनाव में हस्तक्षेप कर रहे हैं, दूसरी तरफ पाकिस्तान के लोग मणिशंकर अय्यर के आवास पर बैठक कर रहे हैं। क्या आप नहीं मानते कि इस तरह की घटनाएं संदेह पैदा करती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here