नार्थ कोरिया के इस बम की ताकत परमाणु बम से भी ज्यादा है

0
8

प्योंगयांग। उत्तर कोरिया ने बीते रविवार को एक हाइड्रोजन बम का परीक्षण कर दुनिया को एक बार फिर चिंता में डाल दिया है। विशेषज्ञों की राय में नॉर्थ कोरिया का यह छठा परिक्षण अब तक किये सभी परीक्षणों से ज्यादा शक्तिशाली था। जिस बम का परिक्षण किया गया उसकी ताकत 1945 में जापान के हिरोशिया और नागासाकी शहर पर गिराए बम की तुलना में सात गुना ज्यादा है।

बता दें कि उत्तर कोरिया पिछले 10 सालों से लगातार अपने परमाणु परीक्षणों से अमेरिका और दक्षिण कोरिया सहित दुनिया के सभी देशों में खौफ पैदा कर रहा है। किम जोंग उन के सत्ता में आने के बाद यह तीसरी बार परमाणु बम का परीक्षण हुआ है। पिछले महीने 29 अगस्त को भी नॉर्थ कोरिया ने जापान के ऊपर मिसाइल लॉन्च की थी।

रविवार को जमीन के अंदर किया गया यह ब्लास्ट अब तक का सबसे खतरनाक परीक्षण था। बताया जा रहा है कि यह बहुत ही पावरफुल हाइड्रोजन बम था, जिसकी ताकत दूसरे विश्व युद्ध के दौरान जापान के नागासाकी और हिरोशिमा पर गिराए गए बम से भी ज्यादा है। नॉर्थ कोरिया ने दावा किया है कि यह बम अपने पांचवे परमाणु परीक्षण से 10 गुना अधिक शक्तिशाली है।

यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के अनुसार, इस हाइड्रोजन बम के परीक्षण के बाद नॉर्थ कोरिया के पुंगे-री न्यूक्लियर टेस्ट साइट के पास करीब 6.3 तीव्रता वाला भूकंप महसूस किया गया। इस खतरनाक भूकंप के झटके उत्तर पूर्वी चीन में भी लगे। एक्सपर्ट की मानें तो इससे पहले परमाणु परीक्षण के दौरान इतने खतरनाक भूकंप के झटके महसूस नहीं किए गए थे।
नॉर्थ कोरिया ने सितंबर मे 2016 में जिस परमाणु बम का सफल परीक्षण किया था उससे 10 किलोटन ऊर्जा उत्पन्न हुई थी। इस बार करीब 100 किलोटन के हाइड्रोजन बम का सफल टेस्ट का दावा किया जा रहा है।विशेषज्ञों का कहना है किअगर वाकई में ऐसा है तो यह दुनिया का सबसे खतरनाक और शक्तिशाली बम हो सकता है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here