टीम इंडिया ने रचा इतिहास, पहली बार विदेशी धरती पर किया क्लीन स्वीप

0
15

श्रीलंका के पल्लेकेले में खेले गए तीसरे और आखिरी टेस्ट मैच में पारी और 171 रनों से मात देकर टीम इंडिया ने तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में श्री लंका का 3-0 से सूपड़ा साफ कर दिया है। इसी के साथ ही भारत ने 85 साल के इतिहास में विदेशी सरजमीं पर 2 से ज्यादा मैचों की टेस्ट सीरीज में पहली बार व्हाइटवाश किया है।

भारतीय टेस्ट क्रिकेट के 85 सालों के इतिहास में विराट कोहली पहले ऐसे कप्तान बन गए हैं, जिनकी अगुवाई में टीम इंडिया ने पहली बार विदेश में 3 मैचों की टेस्ट सीरीज में 3-0 से वाइटवॉश किया है।

इस तीसरे और आखिरी मैच में टीम इंडिया के पहली पारी में बनाए गए 487 रनों के विशाल स्कोर के जवाब में श्रीलंका की टीम अपनी पहली पारी में 135 रन पर ही ढेर हो गई थी। इसके बाद फॉलोऑन खेलने उतरी श्रीलंकाई टीम को टीम इंडिया ने दूसरी पारी में 181 रन पर समेट कर पारी और 171 रन से जीत हासिल कर ली।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया ने शिखर धवन (119) और हार्दिक पंड्या (108) की बड़ी पारियों की मदद से 487 रन बनाए थे। दूसरी पारी में श्रीलंका की ओर से निरोशन डिकवेला ने 41 और दिनेश चांडीमल ने 36 रन बनाये।

भारतीय टीम विराट कोहली की कप्तानी में विदेशी धरती पर अब तक १३ टेस्ट मैच खेल चुकी है जिसमें से उसे 7 में जीत हासिल हुई है। महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भी भारत ने विदेश में खेले 30 मैचों में से 6 मैच जीते थे जबकि विराट कोहली ने विदेशी धरती पर अपने करियर के 12वें मैच में ही धोनी की बराबरी कर ली। विदेश में सबसे ज्यादा मैच जीतने का भारतीय रिकॉर्ड पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के नाम पर है, जिनकी कप्तानी में भारत ने 11 मैच जीते थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here