सानिया और हिंगिस की लगातार दूसरी जीत

0
55

विजय रथ पर सवार चल रही भारत की सानिया मिर्जा और उनकी जोड़ीदार मार्टिना हिंगिस ने वर्ष के आखिरी टूर्नामेंट डब्ल्यूटीए फाइनल्स के अपने दूसरे मैच में जबरदस्त वापसी करते हुये लगातार पांच गेम जीतकर बुधवार को रेड ग्रुप में लगातार दूसरी जीत हासिल कर ली.
टॉप सीड सानिया और हिंगिस की जोड़ी ने सातवीं वरीयता प्राप्त चेक गणराज्य की जोड़ी आंद्रिया लावाकोवा और लूसी रादेका को एक घंटे 17 मिनट में 6-3, 6-4 से हराकर सेमीफाइनल के लिये अपनी दावेदारी मजबूत कर ली.
सानिया-हिंगिस ने पहला सेट दो ब्रेक के सहारे 34 मिनट में 6-3  से जीत लिया लेकिन विपक्षी जोड़ी ने दूसरे सेट में जवाबी प्रहार करते हुये 4-1 की बढ़त बनाकर सानिया-हिंगिस को चौंका दिया. इस साल आठ खिताब जीत चुकी शीर्ष वरीय जोड़ी ने जबरदस्त वापसी करते हुये लगातार पांच गेम जीतकर दूसरा सेट 6-4 से समाप्त करते हुये जीत अपने नाम कर ली.
भारतीय और स्विस जोड़ी ने मैच में पांच में चार ब्रेक अंकों को भुनाया जबकि विपक्षी टीम छह में से दो ब्रेक अंक ही भुना पायी. सानिया इस टूर्नामेंट की गत चैंपियन हैं. उन्होंने गत वर्ष जिम्बाब्वे की कारा ब्लैक के साथ यह खिताब जीता था. सानिया इस सा में हिंगिस के साथ जोड़ी बनाकर दो ग्रैंड स्लेम सहित कुल आठ खिताब जीत चुकी हैं.
इस बीच एकल मुकाबलों में दूसरी सीड स्पेन की गरबाइन मुगुरुजा और चौथी वरीय चेक गणराज्य की पे क्वीतोवा ने अपने-अपने मुकाबले जीत लिये. मुगुरुजा की व्हाइट ग्रुप में यह लगातार दूसरी जीत है जबकि क्वीतोवा ने पहली जीत का स्वाद चखा। मुगुरुजा ने जर्मनी की एंजेलिक केर्बर को 6-4,6-4 से हराया.
क्वीतोवा ने लूसी सफारोवा को लगातार सेटों में हराकर व्हाइट ग्रुप में अपनी पहली जीत दर्ज की जबकि लगातार दूसरा मैच हारने के बाद सफारोवा की उम्मीदें लगभग समाप्त हो गई हैं. चौथी वरीय क्वीतोवा ने आठवीं सीड और अपनी फेड कप टीम साथी सफारोवा को एक घंटे 48 मिनट में 7-5 ,7-5 से पराजित किया.
दोनों खिलाड़ियों ने अपने पहले मुकाबले हारे थे ऐसे में क्वीतोवा के लिये यह जीत टूर्नामेंट में बने रहने के लिये काफी अहम है. दो बार की विंबलडन चैंपियन क्वीतोवा ने सफारोवा के खिलाफ बेहतरीन शुरूआत की और एक समय दोनों स्कोरबोर्ड पर लगभग बराबर चल रही थीं.
सफारोवा ने पहले सेट में बेजां भूलें की और 5-5 पर स्कोर बराबर होने के बाद क्वीतोवा को पहला ब्रेक प्वांइट मिला और फिर उन्होंने 7-5 से सेट जीतकर बढ़त बना ली. दूसरा सेट भी काफी रोमांचक रहा और सफारोवा ने दो बार क्वीतोवा की सर्विस ब्रेक कर 3-0 की बढ़त बनाई. लेकिन विश्व की पांचवें नंबर की खिलाड़ी क्वीतोवा ने वापसी करते हुये लगातार अच्छे शाट खेले और बराबरी हासिल कर ली.
क्वीतोवा ने फिर दो ब्रेक अंक बचाते हुये 5-3 की बढ़त बनाई. सफारोवा ने वापसी करते हुये स्कोर 5-5 से बराबर किया लेकिन क्वीतोवा ने सेट में टाईब्रेक की नौबत नहीं आने दी और यह सेट 7-5 से निपटाते हुये मैच अपने नाम किया. क्वीतोवा की इस जीत से उनका सफारोवा के खिलाफ करियर रिकार्ड 8-0 पहुंच गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here